कर्मचारियों के लिए आई बड़ी खुशखबरी, OPS पर नया आदेश जारी


ओल्ड पेंशन योजना एक ऐसी योजना है जिसके अंतर्गत सरकारी कर्मचारियों के लिए पद से रिटायर होने के बावजूद भी मुख्य वेतन से आधा वेतन उपलब्ध करवाया जाता है। इस योजना का लाभ कार्यरत कर्मचारियों तथा रिटायर दोनों कर्मचारियों के लिए सुनिश्चित करवाया जाता है।

देश के मुख्य राज्यों में से एक हिमाचल प्रदेश में भी ओल्ड पेंशन योजना का लाभ कर्मचारियों के लिए दिया जाता था परंतु 2003 में इस योजना को बंद करवा दिया गया था। कर्मचारियों की मांग के चलते 2022 में इस योजना पर फिर से कार्य प्रक्रिया को शुरू करवाया गया है तथा 2023 में सुक्खू सरकार की चुनावी गारंटी के तौर पर इस योजना को पुनः प्रारंभ करवाया गया।

हिमाचल राज्य के रिटायर तथा सेवानृत कर्मचारियों के लिए बहुत ही अच्छी सूचना सामने आई है की इन सभी के लिए ओल्ड पेंशन योजना का लाभ दिया जाना है। ऐसे कर्मचारी जिनके लिए अनुबंध अवधि के कारण 10 साल की सेवा न होने पर ओल्ड पेंशन नहीं मिलती थी अब उनके लिए भी लाभ दिया जाएगा।

Old Pension Scheme 2024

हिमाचल प्रदेश में ओल्ड पेंशन स्कीम के तहत ऐसा नियम निर्धारित करवाया गया था कि जिन कर्मचारियों का सेवा देने का कार्यकाल 10 वर्ष या उससे अधिक हो चुका है केवल उनके लिए ओल्ड पेंशन का लाभ दिया जाना है जिसके अंतर्गत  शुरुआत में उन्होंने कॉन्ट्रेक्ट बेस पर नौकरी की थी और इस पीरियड को रेगुलर सर्विस में काउंट नहीं किया गया था।

ऐसे में कॉन्ट्रैक्ट बेस के कार्यकाल को काउंट न किए जाने पर उनके लिए ओल्ड पेंशन नहीं मिल पाती थी परंतु अब रेगुलर सर्विस के साथ कांटेक्ट बेस की अवधि को भी जोड़ा जाएगा तथा दोनों को मिलाकर 10 साल की अवधि तैयार किए जाने पर ओल्ड पेंशन योजना का लाभ सभी कर्मचारियों को दिया जाएगा।

कितने कर्मचारी के लिए मिलेगा ओल्ड पेंशन का लाभ

सुक्कू सरकार के द्वारा 2023 में इस योजना को पुनः लागू करते हुए यह बताया गया था कि राज्य के ऐसे कर्मचारी जो रिटायर हो चुके हैं तथा पुरानी पेंशन योजना का लाभ अभी तक नहीं मिला है उनमें से 1 लाख तीस हजार से अधिक कर्मचारियों के लिए ओल्ड पेंशन योजना से लाभार्थी किया जाएगा।

रिटायर्ड कर्मचारियों के लिए ओल्ड पेंशन योजना का लाभ प्राप्त करने हेतु 1 महीने के अंतर्गत विभाग अध्यक्ष के जरिए कार्यालय में अपना विकल्प देना अनिवार्य होगा। अगर आप इस निश्चित समय के अंतर्गत ओल्ड पेंशन की कार्य प्रक्रिया को पूरा कर लेते हैं तो आपके लिए सरकार के द्वारा लाभार्थी कर्मचारियों की सूची में जोड़ा जाएगा।

वित्त विभाग के प्रधान द्वारा मेमोरेंडम जारी

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सुप्रीम कोर्ट में एक रिटायर्ड कर्मचारी महिला शीला देवी के द्वारा पुरानी पेंशन योजना के लिए आवेदन दिया गया था जिसके तहत सुप्रीम कोर्ट ने इस महिला के पक्ष में फैसला सुनाया था। इसी फैसले के चलते वित्त विभाग के प्रधान श्री देवेश कुमार जी के द्वारा ओल्ड पेंशन योजना के बारे में मेमोरेडम जारी कर दिया गया है।

मेमोरेंडम जारी करने के दौरान अब वित्त विभाग के द्वारा ऐसे सभी रिटायर कर्मचारियों के लिए ओल्ड पेंशन योजना का लाभ दिया जाना है जिन्होंने कॉन्ट्रैक्ट एवं रेगुलर सेवा देने का कार्य किया है। जिन कर्मचारियों का सेवा देने का कार्यकाल 10 वर्ष से अधिक हुआ है उन सबके लिए ओल्ड पेंशन योजना का लाभ प्राप्त करने हेतु विकल्प जमा कर देना चाहिए।

सुक्खू सरकार द्वारा कर्मचारियों के लिए सुविधा

2003 से पुरानी पेंशन योजना का लाभ बंद करवाया जाने पर कर्मचारियों के बीच चिंता का विषय बना हुआ था क्योंकि अब उनके लिए अपने रिटायरमेंट के बाद जीवन यापन हेतु उक्त पेंशन नहीं मिल पा रही थी। सुक्खू सरकार के द्वारा ऐसे कर्मचारियों के लिए बहुत ही सुविधाजनक कार्य किया गया है।

अब राज्य के 1 लाख से अधिक रिटायर्ड कर्मचारी तक अपनी आर्थिक सुविधाओं के लिए सैलरी से आधी पेंशन प्राप्त कर सकते हैं जो उनके लिए बहुत ही अच्छी बात है। चुनावी गारंटी के तौर पर शुरू करवाई गई यह योजना राज्य के रिटायर कर्मचारियों के लिए बहुत ही कल्याणकारी योजना साबित हुई है।

Leave a Comment